वीडियो परामर्श
लड़की को डिस्चार्ज करने का तरीका | ladki kaise discharge hoti hai

Ladki ko discharge karne ka Tarika

Stri Ko Sambhog Me Shighra Skhalit Kaise Karen?, स्त्री को संभोग में शीघ्र स्खलित कैसे करें?, संभोग , Sexual intercourse

स्त्री-पुरूष दोनों की इच्छा से किया गया संभोग ही आनंददायी होता है। यदि संभोग में स्त्रियों को पहले अथवा अतिशीघ्र स्खलित करने की इच्छा हो तो इसके लिए निम्नलिखित उपायों सेे उन्हें चरमसुख तक पहुंचाया जा सकता है..

  • कच्चा चैकिया सुहागा एक ग्राम पीसकर दूध या किसी अन्य वस्तु में खिला-पिला दें। संभोग में स्त्री शीघ्र स्खलित हो जायेगी।

  • शहद 6 भाग, सुहागा 1 भाग, काफूर 1 भाग। इन्हें सुपारी को छोड़कर लिंग पर मलें। इस योग के प्रयोग से स्त्री बहुत जल्द स्खलित हो जायेगी एवं आनंद के मारे मूच्र्छित हो जायेगी।

  • बार-बार संभोग करने में पुरूष को तो स्खलित होने में पिछली बार की अपेक्षा ज्यादा समय लगता है, लेकिन इसके विपरीत स्त्रियां पिछली बार के संभोग की अपेक्षा अतिशीघ्र चरमसुख को प्राप्त कर लेती हैं। स्त्री में पुरूष की अपेक्षा आमतौर से अधिक कामेच्छा होती है। यह शत-प्रतिशत सच है कोई चाहे कितना ही इस का खंडन करे, परन्तु सच यही है।

  • सुहागा भुना हुआ 1 ग्राम, भीमसेनी काफूर 9 ग्राम, शहद साढ़े 3 ग्राम। सबको मिलाकर इन्द्री पर मलें। इसे स्त्री जल्दी स्खलित होगी।(सुपारी पर न लगायें।)

  • तिन्कार एक तोला, पारा 3 ग्राम, काफूर 1 ग्राम लेकर महीन पीस लें। इसमें असली शहद 6 ग्राम मिला लें। आवश्यकता के समय सुपारी को छोड़कर शेष इन्द्री पर 4-5 रत्ती लगाकर स्त्री से यौन-समागम करें। इससे स्त्री शीघ्र स्खलित होगी।

  • दूधी बूटी पान के पत्ते में चूने के साथ स्त्री को खिलायें। ऐसा करने से वह शीघ्र स्खलित हो जाती है।

  • संगबसरी, छोटी कटाई के बीज, लाल प्याज के रस में पीसकर इन्द्री पर तिला करें और खुश्क हो जाने पर स्त्री समागम करें। स्त्री जल्दी डिस्चार्ज होगी।

  • हरमल सुखाकर सूक्ष्म पीस लें। तत्पश्चात् इसे मधु मिलाकर लिंग की सुपारी छोड़कर इन्द्री पर मलें। सूख जाने पर रति आनंद उठायें। स्त्री शीघ्र द्रवित होगी।

  • Ladki ko discharge karne ka Tarika | Chetan Clinic
  • भुना हुआ सुहागा एक ग्राम, काफूर 4 रत्ती मधु में मिलाकर पुरूष इन्द्री पर लेप करें। दो घण्टे पश्चात् संभोग करें। स्त्री जल्दी द्रवित होगी। सुपारी पर न लगायें।

  • हम सावधान करते हैं कि पुरूष जब तक स्त्री को पूरी तरह कामोत्तेजित न कर लें, तबतक या उससे पूर्व संसर्ग करने का यत्न कदापि ना करें, अन्यथा पछताना पड़ेगा।

  • शहद में सुहागा अच्छे से मिलाकर इन्द्री पर लेप करने से स्त्री पहले स्खलित होगी। लिंग की सुपारी छोड़कर ही लेप करें।

  • लौंग, छोटी इलायची के बीज, चुनिया काफूर, सुहागा, अकरकरह प्रत्येक दो ग्राम। अब शहद आवश्यकतानुसार लेकर उपरोक्त सूक्ष्म पीसी हुई औषधियाँ सम्मिलित करके गोलियाँ बना लें।
    आवश्यकता के समय एक गोली घिसकर सुपारी छोड़कर लिंग पर मलें। स्त्रियों को शीघ्र स्खलित करने में अत्यंत अनुभूत है।

  • काफूर तथा पारा घोंटकर इन्द्री पर सुपारी छोड़कर लेप करें। तत्पश्चात् संभोगरत् होने से स्त्री शीघ्र स्खलित हो जायेगी।

  • काफूर एक भाग, चूना दो भाग आपस में मिलायें और स्त्री को खिलायें। स्त्री अतिशीघ्र द्रवित हो जायेगी।

  • अब बात आती है कि कैसे पहचानें कि स्त्री पूर्ण कामोत्तेजित हो गई है, तो इस संदर्भ में यह संकेत उपयोगी हो सकता है, कि पूरी तरह कामोत्तेजित होने के बाद अन्य लक्षणों के साथ-साथ अधिकांश स्त्रियों में यह लक्षण भी पाया जाता है कि वे चोर नजरों से अपने योनि प्रदेश की ओर व्याकुलतापूर्वक निहारने लगती है।
    पुरूषों को चाहिए कि स्त्री की इस अवस्था पर कुशलतापूर्वक निगाह जमाये रखें। लेकिन यह बात स्त्री को ज्ञात न हो सके कि उसकी भाव-भंगिमाओं की निगरानी की जा रही है। अन्यथा यह विशेष लक्षण व प्रदर्शित नहीं होने देगी। साथ ही दूसरे लक्षणों को भी लोप कर देगी, क्योंकि खुद पर नजरें जमाये जाने का आभास पाते ही वह अनुभव करने लगेगी कि उसे शीघ्र से शीघ्र कामातुरी बनाकर मूर्ख बनाया जा रहा है, ताकि वह शीघ्र ही चरमसुख की स्थिति में पहुंच जाये और बाद में पुरूष अपने पुरूषत्व की डींगे मार सके।

Ask a free question :

Get free opinion from senior sexologist

Gupt Rog - Sex Samasya


Quick Enquiry

हमारी विशेषतायें

बी.ए.एम.एस. आयुर्वेदाचार्यों की टीम
लाखों पूर्ण रूप से संतुष्ट मरीज
साफ-सुथरा वातावरण
किसी भी तरह का कोई साइड इफेक्ट नहीं
हमारी खुद की प्रयोगशाला है
1995 से स्थापित
Patient friendly staff
9001 - 2008 सर्टिफाइड क्लीनिक
हिन्दुस्तान के दिल दिल्ली में स्थापित क्लीनिेक पर बहुत आसानी से पहुंचा जा सकता है। बस, मैट्रो, रेल की सुविधा।
हिन्दुतान में सबसे अधिक अवार्ड्स प्राप्त
आयुर्वेदाचार्य हिन्दी स्वास्थ पत्रिका ‘‘चेतन अनमोल सुख’’ के संपादक भी है
कई मरीज रोज क्लीनिक पर इलाज करवाने आते हैं जो मरीज क्लीनिक से दूर हैं या पहुंच पाने में असमर्थ होते हैं या आना नहीं चाहते तो वो फोन पर बात कर, घर बैठे इलाज मंगवाते हैं

Offer

Gupt Rog Doctor offer
Gupt Rog Doctor facebook

REVIEWS